Kaanta laga lyrics in hindi

राजा तेरे महल के पीछे
पीछे पीछे पीछे
हांजी तेरे तेरे बगीचे
नीचे नीचे क्यूं

कांटा लगा उइमां उइमां उइमां
उइमां उइमां उइमां उ
कांटा लगा उइमां उइमां उइमां
उइमां उइमां उइमां उ
कांटा लगा आये आये आये
आये आये आये
कांटा लगा आये आये आये
आये आये आये

रानी मेरे महल के पीछे
पीछे पीछे पीछे
हांजी मेरे मेरे बगीचे
नीचे नीचे हूं

कांटा लगा उइमां उइमां उइमां
उइमां उइमां उइमां उ
कांटा लगा उइमां उइमां उइमां
उइमां उइमां उइमां उ

क्यूंकि सुंदर नारी खड़ी थी कवारी
अंख मटकारी ऊँ ऊँ
अरे लाल तेरी साड़ी दिखती नाड़ी
अड़गी गरारी क्यूं क्यूं

धीमे धीमे धीमे धीमे धीमे
धीमे धीमे धीमे धीमे होने दे 
भीगे भीगे भीगे भीगे भीगे
भीगे भीगे भीगे भीगे भीगे
भीगे भीगे भीगे भिगोनेदे

टोनी कक्कर के गानों पे नाचे
लड़की ज़रा भी सोई न
न बोलियों उइमां उइमां उइमां
उइमां उइमां उइमां उ
कांटा लगा उइमां उइमां उइमां
उइमां उइमां उइमां उ

जान जानेजहान मैं हूं तेरा
शोले का अमजद खान
नाचती जा न हो परेशान
आजा मिटादूँ मैं तेरी थकान
वो पहने शरारा न पहनें वो सांची
नि रहती लाहौर वो रहती करांची
लगाती वो ऊड खिलाती वो फ़ूड
दैट मेक मीं, दैट मेक मीं फ़ील इज सो गुड

माना कुड़ी है तू यूके की
आ घुमा दूं तुझे यू ए ई
आ सुना दूं तुझे लता दीदी
क्यूं सुनती तू काडिवी
छी नौटी लड़की
आँ नौटी लड़की
छोरी सुनती तू काडिवी
आँ नौटी लड़की

हाये मर गयी हाये हाये मर गयी
हाये हाये मर गयी आये हाये मर गयी
घर तेरे गयी क्यूं घर तेरे गयी क्यूं
घर तेरे गयी क्यूं घर तेरे गयी मैं

ओ ज़ालिमा छत पे खड़ा है
बेदर्दी आता नहीं नीचे
कांटा लगा उइमां उइमां उइमां
उइमां उइमां उइमां उ
कांटा लगा उइमां उइमां उइमां
उइमां उइमां उइमां उ
कांटा लगा उइमां उइमां उइमां
उइमां उइमां उइमां उ
कांटा लगा उइमां उइमां उइमां
उइमां उइमां उइमां उ उ

Leave a Comment