होली रे – Holi Re Lyrics in Hindi – Aamir Khan,

0
94

होली रे – Holi Re Lyrics in Hindi

होली हो हे…
होली आई रंग फूट पड़े
यह चालाक चालाक
वह ढलक ढलक
फिर बजे घुंगरू
ढोल बड़े यह
यह चालाक चालाक
वह धमक धमक
सब निकले हैं
पि पिके घड़े
यह लपक लपक
वह धूमक धूमक
चम् चम् नाचे
परियों की धुनें
यह थिरक थिरक
वह मटक मटक
यह चालाक चालाक
वह ढलक ढलक
यह चालाक चालाक
वह ढलक ढलक
यह लपक लपक
वह धूमक धूमक
यह थिरक थिरक
वह मटक मटक

हे…
हा हा हा हा…

हो…
देखो आई होली
रंग लायी होली
चली पिकतकरी
उदा हैं गुलाल
बनके हैं घटा
मैं झूम
उठा रंग छलके
हैं नीले हरे लाल
देखो आई होली
रंग लायी होली
चली पिकतकरी
उदा हैं गुलाल
बनके हैं घटा
मैं झूम
उठा रंग छलके
हैं नीले हरे लाल
रंग रैली में रंग
खेलूंगी रंग जाउंगी
रंग गहरे हैं अबकी साल
अब्ब हमें कोई रोके नहीं
अब्ब हमें कोई टोके नहीं
अब्ब होने दो हो जो भी हल
देखो आई होली रंग लायी होली
चली पिकतकरी उदा हैं गुलाल
बनके हैं घटा
मैं झूम उठा
रंग छलके हैं नीले हरे लाल

हो ो…

भीगी चोली चुनरी भी
गीली हुई सजणजी
देखो मैं नीली हुई
थोड़ी थोड़ी तू जो नशीली
हुई पतली कमर लचकीली हुई
मैं क्यों न बहके
तन क्यों न देहके
तुम रह रह के मत
फेको यह नजारो का जल
अब्ब हमें कोई रोके नहीं
अब्ब हमें कोई टोके नहीं
अब्ब होने दो हो जो भी हल
देखो आई होली रंग लायी होली
आज हुआ एक सा कमाल
रंग ऐसे उडे देखने में
लगे कोई रेंज हवाओ के बल
चांदी की थाल से लेके गुलाल
अब्ब राधा से
खेलेंगे होली मुरारि
राधा भी नटखट हैं
पलटी वह झटपट हैं
चांदी की थाल से लेके गुलाल
अब्ब राधा से खेलेंगे
होली मुरारि
मरी कन्हैया
को हैं पीतचकारी
मरी कन्हैया
को हैं पीतचकारी
देखने वाले तोह
दांग हुए हैं के
होली में दोनों हो
संग हुए है
तोह राधा कंहा
एक रंग हुए हैं
कौन हैं राधे
कौन हैं कान्हा
कौन यह समझा
कौन यह जाना

हो ओ ओ…
होली में जो सजनि
से नयन लाडे
थमी हैं काले
के बात बढे
तीर से जैसे मेरे
मनन में गड़े
तेरी यह नजरिया
जो मुझपे पड़े
जो यह रास रचे जो
यह धूम मची
कोई कैसे बचे
हमसे पूछो
न तुम यह सवाल
अब्ब हमें कोई रोके नहीं
अब्ब हमें कोई टोके नहीं
अब्ब होने दो हो जो भी हल
देखो आई होली
रंग लायी होल
चली पिकतकरी
उदा हैं गुलाल
बनके हैं घटा
मैं झूम
उठा रंग छलके
हैं नीले हरे लाल
देखो आई होली
रंग लायी होल
चली पिकतकरी
उदा हैं गुलाल
बनके हैं घटा
मैं झूम
उठा रंग छलके
हैं नीले हरे लाल
अब्ब हमें कोई
रोके नहीं
अब्ब हमें कोई
टोके नहीं
अब्ब होने दो
हो जो भी हल
देखो आई होली
रंग लायी होल
चली पिकतकरी
उदा हैं गुलाल
बनके हैं घटा
मैं झूम
उठा रंग छलके
हैं नीले हरे लाल
आये…होली होली.

Holi Re Song Lyrics in English

Holi ho hey…
Holi aai rang phut pade
Yeh chalak chalak
Woh dhalak dhalak
Phir baje ghungru
Dhol bade yeh
Yeh chalak chalak
Woh dhamak dhamak
Sab nikle hain
Pi pike ghade
Yeh lapak lapak
Woh dhumak dhumak
Cham cham nache
Pariyo ki dhunein
Yeh thirak thirak
Woh matak matak
Yeh chalak chalak
Woh dhalak dhalak
Yeh chalak chalak
Woh dhalak dhalak
Yeh lapak lapak
Woh dhumak dhumak
Yeh thirak thirak
Woh matak matak

Hey…
Ha ha ha ha…

Ho…
Dekho aai holi
Rang layi holi
Chali picthkari
Uda hain gulal
Banke hain ghata
Mann jhoom
Utha rang chalke
Hain nile hare lal
Dekho aai holi
Rang layi holi
Chali picthkari
Uda hain gulal
Banke hain ghata
Mann jhoom
Utha rang chalke
Hain nile hare lal
Rang reli me rang
Khelungi rang jaungi
Rang gehre hain abake saal
Abb hame koi roke nahi
Abb hame koi toke nahi
Abb hone do ho jo bhi hal
Dekho aai holi rang layi holi
Chali picthkari uda hain gulal
Banke hain ghata
Mann jhoom utha
Rang chalke hain nile hare lal

Ho o…

Bhigi choli chunari bhi
Gili hui sajnaji
Dekho mai nili hui
Thodi thodi too jo nashili
Hui patli kamar lachkili hui
Mann kyon na behke
Tan kyon na dehke
Tum reh reh ke mat
Pheko yeh najaro ka jal
Abb hame koi roke nahi
Abb hame koi toke nahi
Abb hone do ho jo bhi hal
Dekho aai holi rang layi holi
Aaj hua ek sa kamal
Rang aaise ude dekhane mein
Lage koi range hawao ke bal
Chandi ki thal se leke gulal
Abb radha se
Khelenge holi murari
Radha bhi natkhat hain
Palti woh jhatpat hain
Chandi ki thal se leke gulal
Abb radha se khelenge
Holi murari
Mari kanhaiya
Ko hain pitchkari
Mari kanhaiya
Ko hain pitchkari
Dekhane wale toh
Dang hue hain ke
Holi mein dono ho
Sang hue hai
Toh radha kanha
Ek rang hue hain
Kaun hain radha
Kaun hain kanha
Kaun yeh samjha
Kaun yeh jana

Ho o o…
Holi mein jo sajni
Se nayan lade
Thami hain kalai
Ke bat badhe
Tir se jaise mere
Mann mein gade
Teri yeh najariya
Jo mujhpe pade
Jo yeh ras rache jo
Yeh dhum mache
Koi kaise bache
Hamse puchho
Na tum yeh sawal
Abb hame koi roke nahi
Abb hame koi toke nahi
Abb hone do ho jo bhi hal
Dekho aai holi
Rang layi hole
Chali picthkari
Uda hain gulal
Banke hain ghata
Mann jhoom
Utha rang chalke
Hain nile hare lal
Dekho aai holi
Rang layi hole
Chali picthkari
Uda hain gulal
Banke hain ghata
Mann jhoom
Utha rang chalke
Hain nile hare lal
Abb hame koi
Roke nahi
Abb hame koi
Toke nahi
Abb hone do
Ho jo bhi hal
Dekho aai holi
Rang layi hole
Chali picthkari
Uda hain gulal
Banke hain ghata
Mann jhoom
Utha rang chalke
Hain nile hare lal
Aaye…holi holi.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here