वफ़ा ना रास आयी Wafa Na Raas Aayee Lyrics in Hindi – Jubin Nautiyal

0
33

वफ़ा ना रास आयी Wafa Na Raas Aayee Lyrics in Hindi – Jubin Nautiyal

रोऊ या हंशू तेरी हरकत पे
या फिर तेरी तारीफ करू
मेरे दिल से तू ऐसे खेल गया
अब जी न सकू मर भी न सकू

तेरी जहर भरी वो आँखों की
मुझे चाल समझ में न आई

वफ़ा न रास आई
तुझे वो हरजाई
वफ़ा न रास आई
तुझे वो हरजाई

सदियों ये जमाना याद रखेगा
यार तेरी ये बेवफाई

वफ़ा न रास आई
तुझे वो हरजाई

वादों की लाशो को
बोल कहाँ दफनाऊं
वादों की लाशो को
बोल कहाँ दफनाऊं

ख्वाबो और यादों से
कैसे तुमको मिटाऊं
क्यों न मैं तुझे पहचान सका
सच तेरे नहीं मैं जान सका

तेरे नूर से जो रौशन था कभी
उस सहर में आग लगाई

वफ़ा न रास आई
तुझे वो हरजाई
वफ़ा न रास आई
तुझे वो हरजाई

सदियों ये जमाना याद रखेगा
यार तेरी बेवफाई

वफ़ा न रास आई
तुझे वो हरजाई

जिस जिस को मोहब्बत रास आई
वो लोग नसीबो वाले थे
तक़दीर के हाथो हार गए
हम जैसे थे

सुन यार मेरे वो हरजाई
हम थोड़े अलग दिलवाले थे
पर जैसा सोचा था हमने
तुम वैसे न थे

तूने वार किया सीधे दिल पे
और पलक भी न झपकाई

वफ़ा न रास आई
तुझे वो हरजाई
वफ़ा न रास आई
तुझे वो हरजाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here