चाँद का टुकड़ा Chand Ka Tukda – Tony Kakkar – Chand Ka Tukda Lyrics in Hindi

0
54

Chand Ka Tukda Lyrics in Hindi

दुनिया कहती तुमको चाँद का टुकड़ा
दुनिया कहती तुमको चाँद का टुकड़ा

ना समझ हैं वो उन्हें पता नहीं
ना समझ हैं वो उन्हें पता नहीं
के चाँद तुम्हारा है टुकड़ा

दुनिया कहती तुमको चाँद का टुकड़ा
ना समझ हैं वो उन्हें पता नहीं
के चाँद तुम्हारा है टुकड़ा
दुनिया कहती तुमको चाँद का टुकड़ा

घर से ना निकलो तुम कभी भी शाम को
भूल जायेंगे लोग देखना चाँद को
बिना श्रींगार कितना चेहरे पे नूर है
मैखानो में भी नहीं वो
नैनों में सुरूर है
नैनों में सुरूर है

नहीं देखना ताज महल अब
देख लिया तेरा मुखड़ा
हिन्दी ट्रैक्स डॉट इन
ना समझ हैं वो उन्हें पता नहीं
के चाँद तुम्हारा है टुकड़ा
दुनिया कहती तुमको चाँद का टुकड़ा

सूरज की लाली तेरे होठों पे रहती है
नदिया दीवानी तेरे अश्कों से बहती है
संगमरमर सा बदन खुदा ने तराशा है
तुझे क्या पता तेरा समंदर भी प्यासा है
समंदर भी प्यासा है

श्रींगार की नहीं ज़रुरत
कितना सुन्दर मुखड़ा
ना समझ हैं वो उन्हें पता नहीं
के चाँद तुम्हारा है टुकड़ा
दुनिया कहती तुमको चाँद का टुकड़ा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here