वैश्णव जन तो तेने कहिये जे – Vaishnav Jan To Lyrics In Hindi

0
वैश्णव जन तो तेने कहिये जे - Vaishnav Jan To Lyrics In Hindi वैश्णव जन तो तेने कहिये जे पीड़ परायी जाणे रे पर-दुख्खे उपकार करे तोये मन...

यमुनाष्टक Yamunashtak Lyrics in Hindi

0
यमुनाष्टक Yamunashtak Lyrics in Hindi नमामि यमुनामहं सकल सिद्धि हेतुं मुदा मुरारि पद पंकज स्फ़ुरदमन्द रेणुत्कटाम । तटस्थ नव कानन प्रकटमोद पुष्पाम्बुना सुरासुरसुपूजित स्मरपितुः श्रियं बिभ्रतीम ॥१॥ कलिन्द गिरि...

ॐ जय जगदीश हरे – Om Jai Jagadish Hare

0
ॐ जय जगदीश हरे - Om Jai Jagadish Hare ॐ जय जगदीश हरे स्वामी जय जगदीश हरे भक्त जनों के संकट दास जनों के संकट क्षण में दूर करे ॐ...

Achyutam Keshavam – अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं

0
Achyutam Keshavam अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं, राम नारायणं जानकी बल्लभम। कौन कहता हे भगवान आते नहीं, तुम मीरा के जैसे बुलाते नहीं। कौन कहता है भगवान खाते नहीं, बेर शबरी...

Jai Jai Radha Raman

0
Jai Jai Radha Raman Jai Jai Radha Raman Hari bol, Jai Jai Radha Raman Hari bol Man tera bole Radhe Krishna, Tan tere bole Radhe Krishna Jivya...
ज्योत से ज्योत जलाते चलो

Jyot Se Jyot Jagate Chalo – ज्योत से ज्योत जलाते चलो – दुर्गा भजन...

0
Jyot Se Jyot Jagate Chalo - ज्योत से ज्योत जलाते चलो – दुर्गा भजन हिंदी लिरिक्स ज्योत से ज्योत जगाते चलो, प्रेम की गंगा बहाते...

साँचा है तेरा दरबार मइया शेरावाली

0
Saccha Hai Darbar Maiya Sherawali साँचा है तेरा दरबार मइया शेरावाली, ऊँचे ऊँचे पर्वत वाली सचिया सचियाँ ज्योता वाली, तू ही दुर्गा तू ही काली, साँचा है तेरा...
Banayenge Mandir Kasam Tumhari Ram

बनाएँगे मंदिर कसम तुम्हारी राम || Banayenge Mandir Kasam Tumhari Ram Full Hindi Lyrics

0
श्री राम जी भक्ति गीत बनाएँगे मंदिर कसम तुम्हारी राम बनाएंगे मंदिर -2 कसम तुम्हारी राम , प्राण से प्यारा है -2 अवधपुरी का धाम...
Bol Hari Bol Hari

Bol Hari Bol Hari बोल हरी बोल हरी- Hari Bhajan

0
Bol Hari Bol Hari बोल हरी बोल हरी- Hari Bhajan बोल हरी बोल हरी हरी हरी बोल, बोल हरी बोल हरी हरी हरी बोल, बोल हरी...

काली काली अमावस की रात में भजन लिरिक्स – Kali Kali Amavas Ki Raat...

0
काली काली अमावस की रात में भजन लिरिक्स - Kali Kali Amavas Ki Raat Me Lyrics काली काली अमावस की रात में, श्लोक – ॐ ह्रीं...